कॉपीराइट नीति

उत्तर प्रदेश पर्यटन विभाग के पास सारे कॉपीराइट आरक्षित हैं। वेबसाइट में प्रकाशित सामग्री औपचारिक अनुमति के बिना पुनरुदपादित की जा सकती है जब वह गैर वाणिज्यिक अनुसंधान, निजी अध्ययन, समीक्षा और समाचार रिपोर्टिंग इत्यादि उद्देश्यों के लिए इस्तेमाल हुई हो तथा सामग्री को उचित रूप से श्रेय दिया गया हो। परन्तु सामग्री का पुनरूत्पादन यथार्थ रूप से होना चाहिए तथा इसका इस्तेमाल अपमानजनक ढंग से या गुमराह करने के संदर्भ में नहीं होना चाहिए। इस सामग्री को पुनरुदपादित करने की अनुमति किसी और सामग्री तक विस्तृत नहीं है जो एक तीसरी पार्टी का कॉपीराइट होने के रूप में पहचानी जाती है। ऐसी सामग्री का पुनरूत्पादन करने के लिए प्राधिकरण सम्बन्धित कॉपीराइट धारकों से प्राप्त किया जाना चाहिए।

उ. प्र. पर्यटन से जुड़ें   #uptourism   #heritagearc
अंतिम नवीनीकृत तिथि : रविवार, Oct 2 2016 1:50PM