परियोजना का विवरण

परियोजना विकास का उद्देश्य

परियोजना विकास का उद्देश्य लक्षित गंतव्यों के स्थानीय समुदायों के लिए पर्यटन संबंधी लाभों को बढ़ाना है।

परियोजना के लाभार्थी

उत्तर प्रदेश प्रो-पुअर पर्यटन विकास परियोजना से स्थानीय एवं राज्य स्तर पर दूरगामी सामाजिक, आर्थिक एवं पर्यावरणीय लाभ अपेक्षित हैं।

यह परियोजना समुदायों एवं उद्यमियों को चयनित क्षेत्रों के मुख्य आकर्षक पर्यटन स्थलों पर लाभान्वित करेगी। जो उद्यमी पर्यटन उत्थान कार्यों में संलग्न हैं या संलग्न होना चाह रहे हैं, जैसे रिक्शा चालक, स्थानीय शिल्पकार, नुक्कड़ विक्रेता तथा खाद्य एवं पेय पदार्थ सप्लायर्स, यहां तक कि जन सामान्य भी, वे सभी आय उपार्जन अवसरों व नौकरियों जैसी मूलभूत सेवाओं द्वारा लाभान्वित होंगे। उद्यमी एवं छोटे व्यापारी भी क्षमता वृद्धि, विविधीकरण, व्यापार विकास में सहयोग तथा पर्यटन उत्थान शृंखला के साथ जुड़ने से लाभान्वित होंगे।

यह परियोजना कम एवं अधिक व्ययी घरेलू तथा विदेशी पर्यटकों को उनके द्वारा भ्रमण किए जाने वाले प्रत्येक गंतव्य पर समग्र अनुभव में वृद्धि द्वारा लाभान्वित करेगी। यह कार्य (1) स्मारकों एवं साइटों पर संवाद स्तर में वृद्धि तथा सरल पहुंच द्वारा (2) पर्यटन गतिविधियों में गुणवत्ता तथा विविधीकरण द्वारा (3) उन्नत आधारभूत एवं पर्यटन संबंधी सुविधाओं द्वारा (4) उन्नत गंतव्य प्रबंधन द्वारा तथा (5) पर्यटन से जुड़े कार्मिकों के परिचालन स्तर में वृद्धि द्वारा किया जाएगा।

सार्वजनिक क्षेत्र ने सभी स्तरों पर पर्यटन योजना बना कर एक महत्वपूर्ण भागीदारी की है तथा विकास एवं प्रसार द्वारा, इस परियोजना से उत्तर प्रदेश सरकार एवं पर्यटन विभाग के प्रो-पुअर पर्यटन विकास भी लाभान्वित होंगे। प्रदेश सरकार को नए दृष्टिकोणों के सुनियोजित प्रबंधन में सहायता प्रदान करके तथा गंतव्यों के स्तरीय विकास में क्षमता वृद्धि हेतु नए उपायों को अपना कर, अति समावेशी, समन्वित एवं स्थिर उपाय से  योजना एवं प्रसार रणनीति बनाकर यह कार्य संभव हो सकेगा।  

परियोजना के परिणाम सूचक

परियोजना से अपेक्षित मुख्य परिणाम इस प्रकार हैं :-

  • परियोजना में लक्षित गंतव्यों पर होने वाले औसत दैनिक पर्यटन व्यय में अलग-अलग घरेलू अथवा  अंतर्राष्ट्रीय पर्यटकों द्वारा वृद्धि।
  • परियोजना क्षेत्रों में पर्यटकों के औसत ठहराव में, अलग-अलग दिन और रात्रि विश्राम करने वाले पर्यटकों की  वृद्धि।
  • उप परियोजना क्षेत्रों में महिलाओं एवं पुरुषों द्वारा प्रयोग की जाने वाली घरेलू उपयोग की वस्तुओं की संख्या में वृद्धि|
  • परियोजना के गंतव्यों में महिला एवं पुरुष उद्यमियों की संख्या एवं आय में वृद्धि।

परियोजना के घटक

इस परियोजना के 4 मुख्य घटक हैं, जिनका वर्णन निम्नलिखित है :-

घटक 1 : गंतव्य नियोजन एवं शासन (3.7 मिलियन अमेरिकी डॉलर)

इस घटक का मुख्य उद्देश्य नए तरीकों की परख करना, सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्रों को साथ लाने के लिए नीति निर्धारण व समन्वय तंत्र का निर्माण करना तथा स्थानीय समुदायों को प्रभावी गंतव्य स्तरीय पर्यटन की योजना निर्धारण एवं शासन हेतु एक संस्थागत ढांचे की स्थापना करना है। यह घटक अपने उद्देश्य को सलाह, तकनीकी सहायता एवं वित्त प्रबंधन द्वारा हासिल कर सकेगा। ये उद्देश्य (1) चयनित स्थलों के लिए गंतव्य-स्तरीय पर्यटन विकास योजनाओं की सहभागिता फॉर्मूलेशन करके; (2) लक्षित क्षेत्रों में ब्रांडिंग एवं पदोन्नति रणनीतियों के परिष्करण करने में सहायता प्रदान करके, (3) सार्वजनिक-निजी क्षेत्रों में, जो समन्वित क्षेत्रों में पर्यटन विकास से जुड़े हैं, परस्पर संवाद व निवेश करके (4) राज्य स्तरीय आगंतुक सूचना तंत्र में सुधार करके एवं (5) पर्यटन क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों एवं समूहों को प्रशिक्षण प्रदान करके प्राप्त किए जा सकेंगे।

घटक 2 : पर्यटन उत्पाद विकास एवं प्रबंधन ( 35.78 मिलियन अमेरिकी डॉलर)

इस घटक का उद्देश्य पर्यटक के अनुभव को बढ़ावा देना तथा साथ ही स्थानीय जीवन-यापन दशाओं में सुधार तथा आजीविका अवसरों में वृद्धि करना है। ऐसा वर्तमान पर्यटक “आकर्षणों” को पर्यटक “उत्पादों” में परिवर्तित कर किया जाएगा जो स्थानीय समुदायों को भौतिक एवं आर्थिक रूप से सशक्त करता है। इस घटक के अंतर्गत दी जाने वाली सलाह, तकनीकी सहायता एवं होने वाली वित्तीय गतिविधियां (1) वर्तमान सार्वजनिक क्षेत्रों तथा मुख्य आकर्षणों के आसपास के क्षेत्रों में वृद्धि, (2) आगंतुक केंद्रों एवं साइनेज के माध्यम से वार्तालाप तथा सूचना के प्रावधान, (3) गंतव्य स्तरीय उत्पादों के पुनर्वास तथा स्मारक दर्शन के अतिरिक्त की जाने वाली गतिविधियों के विविधीकरण, (4) पर्यटकों तथा स्थानीय लोगों के लिए सुविधाएं एवं सेवाएं यथा पेय जल, विश्राम गृह, शौचालय तथा (5) मुख्य स्थालों एवं पर्यटक उत्पादों एवं नज़दीकी समुदायों तक आसानी से पहुंचाने से संबंधित है।

घटक 3 : स्थानीय आर्थिक विकास को समर्थन (13.23 मिलियन अमेरिकी डॉलर)

इस घटक का उद्देश्य उन लिंक्स को और मज़बूत बनाना है जो पर्यटन के क्षेत्र में सलाह, तकनीकी सहायता, वित्तीय सहायता जैसी उत्पादक एवं रचनात्मक आर्थिक क्रियाओं में लिप्त हैं। ये उद्देश्य (1) स्थानीय उत्पादक एवं रचनात्मक उद्योगों, व्यापार विकास तथा उच्चतम प्रो-पुअर पर्यटन मानकों पर पर्यटन सेवा प्रदाताओं की पहचान, (2) प्रशिक्षण, सूचना, उपकरण एवं वाणिज्य विकास के लिए ढांचा, पर्यटन उत्थान शृंखला के अधीन उत्पादन एवं विपणन, (3) कौशल विकास एवं विविधीकरण तथा (4) पर्यटन उत्पादों से जुड़ी स्थानीय तौर पर निर्मित वस्तुओं के प्रचार-प्रसार संबधी हैं।

घटक 4 : परियोजना प्रबंधन (4.43 मिलियन अमेरिकी डॉलर)

इस घटक का उद्देश्य आवश्यक तकनीकी सहायता, सलाह एवं वित्तीय सहायता देना है जिससे वर्तमान प्रणाली का प्रयोग करते हुए पर्याप्त रूप से परियोजना का प्रबंधन एवं समन्वय किया जा सके। ये उद्देश्य (1) पर्यटन विभाग के लखनऊ स्थित कार्यालय में राज्य परियोजना समन्वय इकाई (एस.पी.सी.यू.) की स्थापना एवं संचालन, विकास अधिकरणों को परियोजना क्रियान्वयन में समर्थन देने के लिए तकनीकी समर्थन इकाइयों (टी.एस.यू.) के रूप में संबंधित तकनीकी विशेषज्ञों की नियुक्तियां (2) परियोजना निगरानी एवं सूचना तन्त्र का विकास करना तथा (3) परियोजना संचार का विकास करना है।

परियोजना लागत

घटकों के अनुसार परियोजना की लागत एवं वित्तपोषण निम्न प्रकार है :-

अमेरिकी डॉलर (मिलियन) में राशी

परियोजना घटक लागत आई.बी.आर.डी. द्वारा वित्तपोषण उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वित्तपोषण
  1. गंतव्य नियोजन एवं शासन
  2. पर्यटन उत्पाद विकास एवं प्रबंधन
  3. स्थानीय आर्थिक विकास को सहायता
  4. परियोजना प्रबंधन
3.70
35.78
13.23
4.43
2.59
25.05
9.26
3.0
1.11
10.73
3.97
1.33
कुल लागत 57.04 39.90 17.14
फ्रंट एंड शुल्क 0.10 0.10 0.00
कुल वित्त पोषण 57.14 40.0 17.14

उ. प्र. पर्यटन से जुड़ें   #uptourism   #UPNahiDekhaTohIndiaNahiDekha
अंतिम नवीनीकृत तिथि : गुरुवार, Jan 24 2019 5:20PM