हेरिटेज होटल
"उत्तर प्रदेश सरकार ने 1950 से पहले निर्मित पुरानी इमारतों, किलों, हवेलियों, कोठियों व महलों को हेरिटेज होटल के रूप में संचालित करने का निर्णय लिया है। हेरिटेज संपत्तियों के लिए सरकार ने एक स्पष्ट नीति तैयार की है।"

16 से 19 वीं सदी के दौरान की उत्तर प्रदेश में ऐसी कई संपत्तियां हैं, जिनका कि आज ऐतिहासिक महत्व है। इनमें शामिल राजसी महलों और वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध किलों से उत्तर प्रदेश के विरासत का गौरवशाली अतीत प्रदर्शित होता है।

1) सूरत भवन पैलेस, सिंघाई, लखीमपुर खीरी
2) महेश विलास पैलेस, शिवगढ़ रायबरेली
3) रामपुर किला
4) बंसी पैलेस
इन विरासत संपत्तियों में रहने की सुविधा उपलब्द  है।
1) इकबाल मंजिल
2) रामपुरा का किला
3) कोतवारा हाउस
4) ओइल हाउस

उत्तर प्रदेश सरकार ने 1950 से पहले निर्मित पुरानी इमारतों, किलों, हवेलियों, कोठियों व महलों को हेरिटेज होटल के रूप में संचालित करने का निर्णय लिया है। हेरिटेज संपत्तियों के लिए सरकार ने एक स्पष्ट नीति तैयार की है।


उ. प्र. पर्यटन से जुड़ें   #uptourism   #heritagearc
अंतिम संपादन तिथि : मंगलवार, Oct 4 2016 11:43AM